चालू वित्तवर्ष में 3 प्रतिशत से नीचे रहेगा कैड: रंगराजन

29 November, 2013 9:48 AM

18 0

सरकार के कदमों के मद्देनजर चालू खाते का घाटा वित्तवर्ष के दौरान तीन प्रतिशत से नीचे आ सकता है.

रंगराजन ने भरोसा जताया कि वित्तवर्ष 2013-14 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 5.3 प्रतिशत रहेगी.

विदेशी मुद्रा के प्रवाह और निकासी के बीच का फर्क कैड कहलाता है जो सोने और कच्चे तेल के आयात के मद्देनजर 2012-13 में सकल घरेलू उत्पाद के 4.8 प्रतिशत के बराबर या 88.2 अरब डॉलर पर था.

सरकार ने कैड को नियंत्रित रखने के लिए कई पहलें की हैं जिनमें सोने पर आयात शुल्क बढ़ाकर 10 प्रतिशत करना और सोने की छड़ों और मेडल का आयात प्रतिबंधित रखना शामिल हैं.

सरकार ने रुपये में नरमी के मद्देनजर निर्यात को बढ़ावा देने के लिए भी अनेक पहल की हैं.

सरकार को उम्मीद है कि कैड उल्लेखनीय रूप से घटकर 56 अरब डॉलर या इससे कम हो जाएगा.

कैड के उच्च स्तर पर पहुंचने के कारण रुपया पर दबाव बड़ा जो अगस्त में डॉलर के मुकाबले 68.85 पर पहुंच गया था.

भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर पहली तिमाही में 4.4 प्रतिशत रही. दूसरी तिमाही की वृद्धि दर का आंकड़ा आज जारी किया जाना है.

रंगराजन ने कहा कि देश की वृद्धि दर मौजूदा निवेश दर पर भी देश की वृद्धि दर सात से 7.5 प्रतिशत हो सकती है बशर्ते परियोजनाएं तेजी से पूरी हों.

Source: samaylive.com

To category page

Loading...