जदयू बड़ी पार्टी के रूप में उभरी तो आपत्ति नहीं : कांग्रेस

8 August, 2014 12:45 AM

70 0

पटना : मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के उस बयान पर कांग्रेस ने नरम रुख अपनाया है. कांग्रेस ने कहा है कि 2015 के विधानसभा चुनाव बाद जदयू यदि सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरती है और नीतीश कुमार इसके नेता निर्वाचित होते हैं, तो पार्टी को इसमें कोई आपत्ति नहीं है.

आमिर खान आजकल विवादों में चल रहें है. यह विवाद उनकी नई फिल्म पीके के पोस्टर को लेकर हुआ है् लेकिन आमिर की माने तो ऐसा उन्हें फिल्म की पटकथा के कारण करना पड़ा.

आमिर का जन्म 14 मार्च 1965 को मुंबई में हुआ था. वे एक भारतीय व्यवसाय अभिनेता, फिल्म निर्माता व निर्देशक, लेखक, पटकथा लिखनेवाले, कभी कभी गायक, और आमिर खान प्रोडक्शंस के संस्थापक-मालिक है. 'पीके' के पोस्‍टर को लेकर सभी इनके पीछे पड गए तो आमिर ने सफाई दे डाली कि यह फिल्‍म की पटकथा को दर्शाता है.

आमिर खान आजकल विवादों में चल रहें है. यह विवाद उनकी नई फिल्म पीके के पोस्टर को लेकर हुआ है् लेकिन आमिर की माने तो ऐसा उन्हें फिल्म की पटकथा के कारण करना पड़ा.

आमिर खान ने अपने करियर की शुरूआत अपने चाचा नासिर हुसैन की फिल्म 'यादों की बारात (1973) में एक बाल कलाकार की भूमिका से की थी. इसके बाद ग्यारह साल बाद खान का करियर फिल्म 'होली (1984)' से आरम्भ हुआ. ये फिल्‍में आमिर को ज्‍यादा सफलमा नहीं दिला पाई. फिल्म 'कयामत से कयामत तक (1988)' के लिए आपनी पहली कामर्सियल सफलता मिली और उन्होंने फिल्म में एक्टिंग के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ मेल नवोदित पुरस्कार जीता.

'परदेसी-परदेसी जाना नहीं' जी हां फिल्‍म 'राजा हिन्दुस्तानी' ने बॉक्‍स ऑफिस पर ण्‍धमाल मचा दिया आश्रै इसके लिए आमिर को पहला फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार मिला जो अब तक की उनकी एक बड़ी कामर्सियल सफलता थी. उन्हें बाद में फिल्मफेयर कार्यक्रम में दूसरा सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार और लगान में उनके अभिनय के लिए 2001 में कई अन्य पुरस्कार मिले और अकादमी पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया.

2007 में, वे निर्देशक के रूप में फिल्म तारे ज़मीन पर का निर्देशन किया, जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ निर्देशक पुरस्कार दिया गया. कई कॉमर्शियल सफल फिल्मों का अंग होने के कारण और बहुत ही अच्छा अभिनय करने के कारण, वे हिन्दी सिनेमा के एक प्रमुख अभिनेता बन गए हैं. टीवी शो सत्यमेव जयते के लिए भी वो काफी चर्चा में रहें. अपने कार्यक्रम में आमिर ने कई ज्‍वंलत मुद्दों को शामिल किया.

ऐसा नहीं कि आमिर पहली बार नये लुक में आए है. इससे पहले फिल्‍म गजनी में भी सलमान ने अपनी पूरी बॉडी पर मानो किताब खोल ली हो. लेकिन इस फिल्‍म में वे नग्‍न ही हो गये. अब इसका इल्‍जाम आमिर के सर मढा जाए या फिर निर्देशक के सर. आमिर कहते है कि ये तस्‍वीर सुर्खियां बटारेने के लिए नही है बल्कि इससे फिल्‍म की स्‍टोरी का पता चलेगा. अब तो फिल्‍म 'पीके' के सिनेमाघरों में आने पर ही पता चल पाएगा कि निर्देशक राजकुमार हिरानी अपनी फिल्‍म में क्‍या स्‍टोरी पेश करना चाहते है और इस नग्‍न पोस्‍टर से वे क्‍या साबित करना चाहते है.

Source: prabhatkhabar.com

To category page

Loading...