जल्द पेश होगा आकाश 4,जनवरी में निविदा को दिया जायेगा अंतिम रूप

9 January, 2014 8:23 AM

35 0

उच्च शिक्षा से सुदूर क्षेत्र के छात्रों को जोड़ने के प्रयासों के तहत अब सस्ता टैबलेट ‘आकाश 4’ अगले कुछ महीने में पेश हो जायेगा.

उन्होंने कहा कि देश के सुदूर क्षेत्रों में उच्च शिक्षा के प्रसार के लिए सस्ता टैबलेट आकाश यूपीए सरकार की महत्वपूर्ण पहल है. फाइबर आप्टिक केबल के माध्यम से सुदूर क्षेत्रों तक इसका प्रसार किया जायेगा.

वहीं, मानव संसाधान विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि इसके तहत 22 लाख 47 हजार टैबलेट खरीदने का प्रस्ताव है और सबसे पहले इन्हें इंजीनियरिंग संकाय के छात्रों को प्रदान किया जायेगा. इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान करने के लिए जल्द ही एक कैबिनेट नोट तैयार किया जायेगा.

इस पर 330 करोड़ रूपये खर्च आने का अनुमान व्यक्त किया गया है और इसके तहत 22.47 लाख टैबलेट डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सप्लायज एंड डिस्पोजल :डीजीएसएंडडी: के माध्यम से खरीदे जाने का प्रस्ताव है.

करीब 35 डालर मूल्य के इस टैबलेट को छात्रों को सब्सिडी के आधार पर प्रदान किया जायेगा और इसका खर्च मानव संसाधन मंत्रालय और संबंधित संस्थान 50:50 के आधार पर वहन करेंगे.

आकाश 4 टैबलेट अगले वर्ष जनवरी तक पेश किया जायेगा जिसमें देश की कई क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ने और संपादन करने की सुविधा होगी.

सूचना संचार प्रौद्योगिकी के जरिये राष्ट्रीय उच्च शिक्षा कार्यक्रम (एनएमईआईसीटी) के एक अधिकारी ने बताया कि नये आकाश में अब छात्र को क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ने और संपादन करने की सुविधा मिलेगी.

आकाश के नये संस्करण में हिन्दी , कन्नड़, तेलगू, मलयाली, तमिल, मराठी, गुजराती, पंजाबी, बांग्ला, ओड़िया, असमिया, उर्दू, मणिपुरी, संस्कृत, देवनागरी आदि भाषाओं में पढ़ने और संपादन की सुविधा होगी.

एनएमईआईसीटी के तहत तैयार किये जा रहे नये आकाश में अब छात्र को क्षेत्रीय भाषाओं में पढ़ने और संपादन करने की सुविधा मिलेगी.

आकाश 4 के मसौदे के अनुसार, इसमें 1 जीबी मेमोरी, 4 जीबी या अधिक की आंतरिक स्टोरेज क्षमता के साथ 2जी, 3जी एवं 4जी डाटा कनेक्टिविटी डोंगल की सुविधा होगी.

सात इंच के टच स्क्रीन वाला आकाश 4 वाई फाई, ब्लूटूथ से जुड़ा होगा. इसकी बैटरी को बेहतर बनाया गया है और इसका जीवन दो वर्ष होगा.

इसमें पीडीएफ फाइल पढ़ने की सुविधा के साथ टेक्स्ट एडीटर और ई बुक रीडर भी है.

नये आकाश से छात्रों को उनके सवालों और उलझनों का तत्काल जवाब मिल सकेंगे .सस्ते टैबलेट आकाश के नये एवं उन्नत संस्करण में ‘क्लिकर’ प्रणाली जोड़ी गई है जिस पर छात्र और अध्यापक संवाद कर सकेंगे.

क्लिकर प्रणाली के मध्यम से आकाश पर क्विज खेले जा सकते हैं और जनमत सव्रेक्षण भी कराये जा सकते हैं . इस पर हिस्सा लेने वालों का प्रदर्शन ‘बार चार्ट’ और ‘पाई चार्ट’ के रूप में देखा जा सकता है.

क्लिकर पण्राली से न केवल उपस्थिति दर्ज कराने में लगने वाले बहुमूल्य समय को बचाया जा सकता है बल्कि एक साथ बड़ी संख्या में छात्रों की परीक्षा ली जा सकती है.

आकाश के नये उन्नत संस्करण में क्लिकर प्रणाली से क्विज प्रश्नावली जोड़ी गई है जिसमें विभिन्न सुदूर क्षेत्रों के छात्र हिस्सा ले सकते हैं.

गौरतलब है कि अभी आकाश टैबलेट की आपूर्ति का काम एक कंपनी डाटाविंड को दिया गया है.

Source: samaylive.com

To category page

Loading...