प्राकृतिक गैस मूल्य का नया फार्मूला अधिसूचित

11 January, 2014 4:52 PM

28 0

प्राकृतिक गैस मूल्य का नया फार्मूला अधिसूचित

केंद्र सरकार ने प्राकृतिक गैस के नए मूल्य फार्मूले को शुक्रवार को अधिसूचित कर दिया.

जिससे पहली अप्रैल से देश में उत्पादित प्राकृतिक गैस का भाव लगभग दोगुना होकर 8.2 से 8.4 डॉलर प्रति इकाई तक पहुंचने की उम्मीद है. पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने ‘घरेलू प्राकृतिक गैस मूल्य निर्धारण दिशानिर्देश 2014’ अधिसूचित कर दिया है.

यह देश में उत्पादित सभी प्रकार की प्राकृतिक गैस के लिए लागू होगा, बेशक उत्पादन का स्रोत परंपरागत, शैल या कोल बेड मीथेन (सीबीएम) में से कुछ भी हो. इसमें कहा गया है कि अप्रैल से गैस का दाम आयातित तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) के औसत मूल्य तथा वैश्विक बाजार में गैस की मानक दरों के आधार पर तय होगा.

यह फार्मूला एक अप्रैल, 2014 से 31 मार्च, 2019 तक पांच साल के लिए लागू होगा. नई दरें इसी फार्मूले के तहत प्रत्येक तिमाही में संशोधित की जाएंगी. यह फार्मूला देश में उत्पादित सभी प्रकार की गैस सार्वजनिक क्षेत्र की ओएनजीसी और निजी क्षेत्र की रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी गैस उत्पादक सभी कंपनियों पर समान रूप से लागू होगा.

अधिसूचना में कहा गया है कि ये दिशानिर्देश ओएनजीसी-आयल इंडिया को, नामांकन पर आधारित क्षेत्रों से निकलने वाली गैस पर भी लागू होंगे. रिलायंस इंडस्ट्रीज को केजी-डीडब्ल्यूएन-98-3 या केजी डी6 ब्लाक के एमए और नए या आगे आने वाले आर श्रृंखला तथा केजी बेसिन के सेटेलाइट ब्लाक और पूर्वोत्तर तट के ब्लाक एनईसी-25 के उत्पादित गैस के लिए नए फार्मूले का लाभ मिल सकेगा.

हालांकि, रिलायंस इंडस्ट्रीज को केजी-डी 6 ब्लाक के अपने मुख्य फील्ड डी1 और डी 3 की गैस के लिए नई कीमत का लाभ लेने के लिए सरकार को बैंक गारंटी देनी होगी. यदि बाद में यह साबित होता है कि कंपनी ने पिछले तीन साल के दौरान जानबूझकर वहां से उत्पादन का स्तर कम रखा और गैस की जमाखोरी की तो उसकी यह बैंक गारंटी भुना ली जाएगी.

बार्कले इक्विटी रिसर्च का अनुमान है कि 2014-15 में गैस का दाम 8.3 डॉलर प्रति इकाई (एमबीटीयू) रहेगा, जो फिलहाल 4.2 डालर प्रति इकाई है. यह इससे अगले साल बढ़कर 9.1 डालर प्रति इकाई हो जाएगा और 2016-17 तक बढ़कर 9.4 डॉलर प्रति इकाई हो जाएगा.

Source: samaylive.com

To category page

Loading...