प्रीति जिंटा मामले में वानखेडे स्टेडियम के सीसीटीवी कैमरों से कोई सुराग नहीं मिला

25 June, 2014 2:28 PM

38 0

प्रीति जिंटा ने 12 जून को एक पुलिस शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उन्होने आरोप लगाया था कि 30 मई को किंग्स 11 पंजाब और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच आईपीएल मैच के दौरान वाडिया ने उसका यौन उत्पीड़न किया था. बहरहाल, वाडिया ने इन आरोपों को ‘‘झूठा और बेबुनियाद’’ बताते हुए खारिज किया है.

अधिकारी ने बताया, ‘‘हमने सोचा था कि पांच सीसीटीवी फुटेज हमें अहम सुराग देंगे लेकिन उनमें दोनों के बीच ना तो कोई तकरार और ना ही कोई हाथापाई दर्ज हुई है.’’ अधिकारी ने बताया कि जांचकर्ता अब सोनी कंपनी के वीडियो कैमरा फुटेज पर उम्मीद लगाए हैं. सोनी के पास इंडियन प्रीमियर लीग 2014 का प्रसारण अधिकार है. उन्होंने कहा, ‘‘सोनी को अभी असंपादित कैमरा फुटेज मुहैया कराना है.

बहरहाल, अधिकारी ने स्पष्ट किया कि अगर तकनीकी साक्ष्य नहीं हैं तो इस मामले में गवाहों के बयान अहम साक्ष्य बनेंगे.

उन्होंने बताया कि इस बीच, प्रीति जिंटा ने तकरीबन 14 लोगों की सूची दी है जो अदाकारा के अनुसार तकरार और कथित यौन उत्पीड़न की घटना के गवाह हैं.

अधिकारी ने कहा, हम इन लोगों को हमारे समक्ष पेश होने और इस मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहेंगे.’’ मुंबई पुलिस ने पिछली रात वानखेडे स्टेडियम में बीसीसीआई कार्यालय में प्रीति जिंटा का बयान दर्ज किया. बयान दर्ज करने का क्रम डेढ़ घंटे से ज्यादा चला.

मरीन ड्राइव पुलिस ने यौन उत्पीड़न मामले में अदाकारा का बयान दर्ज किया जबकि अपराध शाखा ने वाडिया के सचिवों को कथित रूप से माफिया सरगना रवि पुजारी से मिली धमकी भरी फोन काल के संबंध में उनका बयान दर्ज किया.

मरीन ड्राइव पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 354, 504, 506 और 509 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है.

Source: abpnews.abplive.in

To category page

Loading...