बिहार:नहीं चली मोदी लहर,नीतीश-लालू गठबंधन को बढत

26 August, 2014 1:38 AM

21 0

लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन के तीन महीने बाद भाजपा को विधानसभा उपचुनाव में झटका लगा जब बिहार में उसे राजद-जदयू-कांग्रेस गठबंधन के हाथों 4.6 से पराजय का सामना करना पडा और कर्नाटक एवं मध्यप्रदेश में अपने दो मजबूत गढ कांग्रेस के हाथों गंवाने पडे.

लंदन:महात्मा गांधी के जीवन को परदे पर उतारने के लिए 20 साल तक मेहनत कर ‘गांधी’ फिल्म का निर्देशन करने वाले ऑस्कर से सम्मानित ब्रिटिश फिल्मकार रिचर्ड एटेनबरो का निधन हो गया है. वह 90 साल के थे. उनकी मौत की खबर से हॉलीवुड से लेकर बॉलीवुड तक शोक में डूब गया.

उनकी फिल्म ‘गांधी’ 1982 में प्रदर्शित हुई थी. इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अकादमी पुरस्कार मिला था. उस साल ऑस्कर पुरस्कारों में ‘गांधी’ फिल्म की धूम रही थी और उसे आठ श्रेणियों में पुरस्कृत किया गया था. अभिनेता-निर्देशक के पुत्र माइकल एटेनबरो ने बीबीसी को बताया कि उनके पिता का रविवार दोपहर के भोजन के वक्त निधन हो गया.

उनकी तबीयत कुछ समय से ठीक नहीं थी. ‘गांधी’ को लेकर एटेनबरो को खूब प्रसिद्धि मिली. इस फिल्म में बेन किंग्सले ने महात्मा गांधी की भूमिका निभायी थी. सफल अभिनेता भी एक सफल निर्देशक बनने से पहले उनकी गिनती ब्रिटेन के प्रमुख अभिनेताओं में होती थी. वे ‘ब्राइटन रॉक’, द्वितीय विश्वयुद्ध के कैदियों पर बनी थ्रिलर फिल्म ‘द ग्रेट एस्केप’ और बाद में स्टीवन स्पीलबर्ग की ‘जुरासिक पार्क’ जैसी फिल्मों का हिस्सा बने. उन्होंने सत्यजीत रे की फिल्म ‘ दि चेस प्लेयर्स’ (शतरंज के खिलाड़ी) में भी भूमिका निभायी थी.

बचपन से अभिनय महज 12 साल की उम्र में उन्होंने अभिनय की शुरुआत की थी. अपना पहला पेशेवर नाटक 18 साल की उम्र में किया था. 1942 में आयी फिल्म ‘इन व्हिच वी सर्व’ उनकी पहली फिल्म थी. अभिनय के बाद वह फिल्म निर्माण और निर्देशन से जुड़ गये. बतौर निर्माता उन्होंने 13 फिल्मों का निर्माण किया, जबकि 12 फिल्मों का निर्देशन किया. अभिनेता के रूप में वह 78 फिल्मों से जुड़े रहे.

लंदन:महात्मा गांधी के जीवन को परदे पर उतारने के लिए 20 साल तक मेहनत कर ‘गांधी’ फिल्म का निर्देशन करने वाले ऑस्कर से सम्मानित ब्रिटिश फिल्मकार रिचर्ड एटेनबरो का निधन हो गया है. वह 90 साल के थे. उनकी मौत की खबर से हॉलीवुड से लेकर बॉलीवुड तक शोक में डूब गया.

उनकी फिल्म ‘गांधी’ 1982 में प्रदर्शित हुई थी. इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अकादमी पुरस्कार मिला था. उस साल ऑस्कर पुरस्कारों में ‘गांधी’ फिल्म की धूम रही थी और उसे आठ श्रेणियों में पुरस्कृत किया गया था. अभिनेता-निर्देशक के पुत्र माइकल एटेनबरो ने बीबीसी को बताया कि उनके पिता का रविवार दोपहर के भोजन के वक्त निधन हो गया.

उनकी तबीयत कुछ समय से ठीक नहीं थी. ‘गांधी’ को लेकर एटेनबरो को खूब प्रसिद्धि मिली. इस फिल्म में बेन किंग्सले ने महात्मा गांधी की भूमिका निभायी थी. सफल अभिनेता भी एक सफल निर्देशक बनने से पहले उनकी गिनती ब्रिटेन के प्रमुख अभिनेताओं में होती थी. वे ‘ब्राइटन रॉक’, द्वितीय विश्वयुद्ध के कैदियों पर बनी थ्रिलर फिल्म ‘द ग्रेट एस्केप’ और बाद में स्टीवन स्पीलबर्ग की ‘जुरासिक पार्क’ जैसी फिल्मों का हिस्सा बने. उन्होंने सत्यजीत रे की फिल्म ‘ दि चेस प्लेयर्स’ (शतरंज के खिलाड़ी) में भी भूमिका निभायी थी.

गांधी की भूमिका के लिए उन्हें मुझपर पर काफी भरोसा था. उन्हें ‘गांधी’ फिल्म के सपने को साकार करने में 20 साल लगे. ‘ जब उन्होंने मुझे गांधी की भूमिका दी तो काफी खुशी हुई.

Source: prabhatkhabar.com

To category page

Loading...