62 महिलाओं से शादी करने वाला व्यक्ति गिरफ्तार

4 June, 2014 1:17 AM

34 0

उम्र 30 साल और 62 शादियां... सुनने में अपटपटा तो जरूर लगता है पर इसी आरोप में बिहार के वैशाली जिला के बलिगांव थाना की पुलिस ने सोमवार को एक ठग को गिरफ्तार किया है.

जो कि करीब 62 महिलाओं से शादी कर उनमें कई से नकदी, गहने और अन्य बहुमूल्य चीजों की ठगी कर चुका है.

बलिगांव के थानाध्यक्ष राजकुमार पासवान ने बताया कि गिरफ्तार ठग का नाम सिजान उर्फ निजाम उर्फ राजकुमार राय है और वह पूर्वी चंपारण जिला के मेहसी थाना अंतर्गत मेन मेहसी गांव निवासी मो. सुमैल का पुत्र है.

उन्होंने बताया कि सिजान की ठगी का मामला उस समय उजागर हुआ जब वैशाली जिला के बलिगांव थाना अंतर्गत बहादुरपुर चिकनौता गांव निवासी एक 14 वर्षीय किशोरी के एक रेल टिकट परीक्षक (टीटीई) के साथ शादी करने के लिए फरार होने की बात सामने आई. उक्त किशोरी के परिजनों की शिकायत पर बलिगांव के थाना अध्यक्ष राजकुमार पासवान ने किशोरी के मोबाइल फोन नंबर के आधार मामले की जांच शुरू की और उक्त कथित टीटीई को एक बैंक खाता की मदद से पडोसी समस्तीपुर जिला से ढूंढ निकाला.

पासवान ने बताया कि उक्त ठग के पास से पुलिस ने चार मोबाइल फोन और आठ सिम कार्ड बरामद किए हैं. थाना अध्यक्ष ने बताया कि इस ठग के गिरफ्तार होते ही कई महिलाओं के फोन आने शुरू हो गए और उनके द्वारा उसकी पत्नी होने का दावा करने पर जब उन्हें बलिगांव थाना बुलाया गया तो उनमें से कुछ जो कि पड़ोसी जिलों में रह रही थीं अपने परिवार तथा बच्चों के साथ थाना पहुंचीं जबकि प्रदेश के बाहर दूरस्थ स्थानों यथा कोलकाता में रह रहीं महिलाएं अभी रास्ते में हैं.

बलिगांव थानाध्यक्ष राजकुमार पासवान ने बताया कि सिजान उर्फ निजाम उर्फ राजकुमार राय की 62 पत्नियों में अबतक उनके थाना पहुंची 15 महिलाओं ने खुलासा किया कि उसने उनसे नकद और आभूषण ठग लिए गए हैं. उन्होंने बताया कि सहज बात करने वाला सिजान जिस युवती को शादी करने के लिए निशाना बनाता था, स्वयं को उसी के धर्म एवं जाति का बताया करता था.

पासवान ने बताया कि सिजान में एकमात्र गुण यह था कि वह सभी महिलाओं से अच्छे से बात करता था और उनसे नहीं मिल पाने की वजह छुट्टी नहीं मिल पाना, काम अधिक होना अथवा कई स्थानों के भ्रमण में व्यस्त होना बताया करता था और वह अपनी प्रत्येक पत्नी से औसतन दो महीनों में एक बार मिल पाता था.

उन्होंने बताया कि उक्त व्यक्ति की असली पहचान उनके लिए समस्या बनी हुई थी पर अंतत: उसके पूर्वी चंपारण जिला के मेहसी थाना अंतर्गत मेन मेहसी गांव का निवासी होने की पुष्टि हुई जहां उसके परिजन रहते हैं.

पासवान ने बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति आठ महिलाओं के साथ शादी कर उन्हें ठगने के बाद अपने इलाके से वर्ष 2004 में फरार हो गया था.

Source: samaylive.com

To category page

Loading...